उत्तराखंडमसूरीराज्यविडियो

बर्फ़ के आगोश में पहाड़ों की रानी मसूरी व धनौल्टी, रोमांचित हुए पर्यटक, परेशानियाँ भी बढ़ी

पहाड़ों की रानी मसूरी व धनोल्टी सहित आसपास के क्षेत्रों में बुधवार सुबह हुए मौसम की छठी बर्फबारी के बाद खूबसूरत वादियां बर्फ से पूरी तरह लकदक हो गई. यहाँ पहुंचे पर्यटको ने बर्फ का जमकर लुफ्त लिया. वहीं पिछली बार की तुलना में अधिक बर्फ़बारी होने से स्थानीय निवासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. भारी बर्फबारी के बीच सीएसटी के बच्चों को प्रीबोर्ड की परीक्षा देने करीब पांच से छह किमी पैदल जाना पड़ा. 

Story Highlights

  • भारी बर्फबारी के चलते जगह जगह कई वाहन जहां तहां फंस गये व कई वाहनो को धक्का देकर निकालना पड़ा. वहीं प्रशासन द्वारा सडकों से बर्फ हटाने के लिए जेसीबी लगाई गई है, जिससे सडकें साफ़ की जा रही हैं. वहीं अभी भी कई सड़कें बंद पड़ी है,जहां जेसीबी लगा कर रास्ता खोला जा रहा है. प्रातः के समय देहरादून से मसूरी वाहन किंक्रेग से उपर नहीं आ पाये, लेकिन बाद में बस स्टैण्ड तक बर्फ हटने के बाद बसें व अन्य वाहन पहुंच पाये. नगर पालिका के कर्मचारी भी लगातार सड़कों से बर्फ हटाने में जुटे रहे. कोतवाल विद्याभूषण नेगी ने बताया कि बर्फ पड़ने के बाद तुरंत रोड खोलने का प्रयास किया गया व कई मार्ग खोल दिए गये हैं. उन्होंने बताया कि धनोल्टी क्षेत्र में अत्यधिक बर्फबारी के चलते जेपी बैंड व बाटाघाट पर पर्यटकों को आगे जाने से रोका जा रहा है, हालांकि जेसीबी लगी है जैसे ही रास्ता खुलेगा उसी के हिसाब से वाहनों को आगे जाने दिया जायेगा. उन्होंने बताया कि कैम्पटी रोड, किंक्रेग पिक्चर पैलेस रोड, लाइब्रेरी आदि में जेसीबी लगा कर रास्ता साफ कर दिया गया है. साथ ही बताया कि बर्फबारी के चलते अतिरिक्त फोर्स बुलाई गई है, जिसमें एक टुकडी पीएसी व यातायात पुलिस भी शामिल है.

Mussoorie: पहाड़ों की रानी मसूरी व धनोल्टी सहित आसपास के क्षेत्रों में बुधवार सुबह हुए मौसम की छठी बर्फबारी के बाद खूबसूरत वादियां बर्फ से पूरी तरह लकदक हो गई. यहाँ पहुंचे पर्यटको ने बर्फ का जमकर लुफ्त लिया. वहीं पिछली बार की तुलना में अधिक बर्फ़बारी होने से स्थानीय निवासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. भारी बर्फबारी के बीच सीएसटी के बच्चों को प्रीबोर्ड की परीक्षा देने करीब पांच से छह किमी पैदल जाना पड़ा.

पहाड़ों की रानी में विगत दो दिनों से हो रही बारिश के बाद मंगलवार अर्धरात्रि को हुई भारी बर्फबारी प्रातः सात बजे तक होती रही. जिससे यहाँ बर्फबारी की उम्मीद लगाये पर्यटक रोमांचित हो उठे. इस बार लाल टिब्बा क्षेत्र में करीब दो फीट, जबकि लंढौर कैंट क्षेत्र में डेढ़ व बाजार क्षेत्र में एक तथा] मालरोड क्षेत्र में करीब 9 इंच बर्फबारी हुई है. दूसरी ओर अत्यधिक बर्फबारी के कारण स्थानीय लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. जहाँ रात भर से विद्युत आपूर्ति प्रभावित होती रही, जिस कारण कई क्षत्रों में लोगों को पानी की किल्लत का सामना भी करना पड़ा. हालाँकि जल संस्थान के अधिशासी अभियंता एसके सैनी का कहना है कि वि़द्युत आपूर्ति ठप्प होने के कारण पानी की परेशानी को देखते हुए रिजर्व भंडारण से पानी की आपूर्ति की गई. वहीं बिजली विभाग के एसडीओ का कहना है कि लंढौर क्षेत्र में कई स्थानों पर पेड़ों व उनके टहनिया गिरने से विद्युत आपूर्ति बाधित हुई, लेकिन विभाग के कर्मचारी बर्फ के बीच क्षतिग्रस्त लाइनों को ठीक करने में जुटे हुए है व दोहपर तक विद्य़ुत आपूर्ति सुनिश्चित की गई है.

बंगाल से आये पर्यटक दीप्ति घोष का कहना था कि उन्हें कल ऐसा नही लगा था कि प्रकृति उनकी बर्फ़बारी की चाह को पूरी करेगी, लेकिन रात्रि में बर्फ़बारी देखकर वे आनंदित हो गये. उन्होंने जमकर बर्फ का आनंद लिया. उन्होंने कहा कि सुबह जब वे लोग उठे तो कुदरत का नजारा देख फूले नही समाये. चारों तरफ बर्फ ही बर्फ देख पूरा परिवार रोमांचित हो उठा.

वहीं पंजाब से आये सरजीत सिंह ने कहा कि मसूरी वैसे ही सुंदर है, लेकिन बर्फ़बारी का श्रृंगार करने के बाद यहाँ का सौन्दर्य में चार चाँद लग गये हैं.हर तरफ पेड़ पौधे, मकानों की छत, सड़कें सभी बर्फ की सफेद चादर में लिपटी हुई हैं. उन्होंने कहा कि यह उनके जीवन का यादगार पल बन गया है.

Tags

Leave a Reply

Close