बुरांसखंडा, धनोल्टी सुरकंडा में बर्फबारी का आनंद लेने बड़ी संख्या में पहुँच रहे सैलानी, व्यवसायियों के खिले चेहरे

मसूरी:  पहाड़ों की रानी मसूरी में लगातार दूसरे दिन भी रुक रुक कर हो रही बारिश व दोपहर बाद हल्की बर्फ़बारी के बाद कड़ाके की सर्दी से जनजीवन प्रभावित हो गया है. जबकि बुरांसखंडा, धनोल्टी व सुरकंडा सहित नागटिब्बा में हो रही बर्फबारी का यहाँ पहुंचे सैलानी जमकर आनंद ले रहे हैं.  मसूरी-धनोल्टी रोड पर सुबह से ही यातायात का दबाव बढ गया था. बुराशंखण्डा से तुरतुरिया होते हुए धनोल्टी-कद्दूखाल तक सड़क से बर्फ हटाने के लिए दो जेसीबी मसीन लगा दी गयी थी, जिससे पर्यटकों का वाहन चलाने में कोई दिक्कत न होने पाए.

मसूरी में गुरूवार सुबह से लगातार हो रही बारिश के बाद शुक्रवार दोपहर बाद तीन बजे बर्फ की तेज फुहारें पड़नी शुरू हुई, तो माल रोड एवं बाजारों में मौजूद पर्यटकों ने ख़ुशी का इजहार करते हुए बर्फ़बारी का स्वागत किया. हालाँकि बर्फ़बारी ज्यादा देर नही होने के कारण जमीन पर रुक नही पाई. शुक्रवार को तापमान दो से पांच डिग्री सेल्सियश के बीच बना रहा. उत्तर दिशा से आ रही ठंडी हवाओं से आम जनजीवन प्रभावित रहा. वहीं दूसरी ओर अनुमानतः बुरांस खंडा में चार इंच, धनोल्टी में छह इंच व सुरकंडा में करीब 9 इंच हिमपात हुआ है. बर्फबारी गुरुवार रात से सुबह तक हुई. जिसके बाद बर्फ़बारी का आनंद लेने बड़ी संख्या में सैलानी बुरांसखंडा, धनोल्टी का रूख करने लगे हैं. और एक दूसरे के साथ  बर्फ से खेलकर जमकर आनंद ले रहे हैं.

लाइव स्नोफाल का सैलानी ले रहे लुफ्त 

दिल्ली से आये पर्यटकों का कहना है कि वह तीन दिन पूर्व दिल्ली से चले वहां बारिश हो रही थी, उसी से बर्फ़बारी होने का अंदाजा लगाया और मसूरी आ गये. इसके बाद वे यहां से बुरांस खंडा आये, तो यहाँ लाइव स्नोफॉल होते देख बहुत खुशी हुई, जिसे वे जमकर आनंद ले रहे है. उन्होंने देश भर के सैलानियों को यहाँ आने का संदेश दिया कि वे भी मसूरी आयें व कुदरत के इस अनमोल तोहफे का आनंद ले व साल के आखिरी में जीवन के यादगार पल साथ ले जांए. दिल्ली से आई किरन ने कहा कि वह अपने पति के साथ आई हैं और अपनी शादी की सिलवर जुबली 25 वीं साल गिरह मना रहे हैं. यह पल उनके जीवन का सबसे आनंदित करने वाला पल है. इस आनंद में ठंड नहीं लग रही है. क्योंकि हम दिल से प्रकृति के इस नजारे का आनंद ले रहे हैं.

बैगलुरू से आई रेखा व उनके पति सज्जन कुमार इस पल को अपने जीवन का सबसे अहम पल मानते हैं. उनका कहना है कि जीवन में पहली बार बर्फ पड़ते देखना उनके लिए किसी सपने के सच होने जैसा है. उन्होंने कहा कि उनको जितनी खुशी मिल रही है, उसे बयान नहीं कर सकते, बस एंज्वाय कर रहे हैं.

व्यवसायियों के खिले चेहरे 

बर्फ पड़ने से धनोल्टी, कददूखाल व बुरांसखंडा के व्यवसायियों के चेहरे भी खिल गये हैं. व्यवसायियों का कहना है कि बर्फ़बारी होने पर सैलानियों केयहाँ बड़ी संख्या में पहुँचने से उनका व्यवसाय में भी वृद्धि होगी. उन्होंने बताया कि बर्फबारी से कहीं भी मार्ग अवरुद्ध नही हैं, क्योकि लोक निर्माण विभाग ने बर्फ पड़ते ही सड़क से बर्फ साफ करने के लिए छोटी जेसीबी लगा दी है, जिससे सैलानियों को वाहनों से आने  किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो रही है. वहीं धनौल्टी, बुरांसखंडा में बर्फ़बारी होने के बाद पर्यटक मसूरी में भी बर्फ़बारी की आस लगाये बैठे हैं . जिससे यहाँ के व्यवसायियों के चेहरो पर भी रौनक लौट आई हैं. व्यापार संघ के महामंत्री जगजीत कुकरेजा कहते हैं कि मसूरी के आसपास के क्षेत्रों धनौल्टी, सुरकंडा व बुरांसखंडा में बर्फ़बारी के बाद मसूरी में भी बर्फ़बारी होने की संभावना बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि अगर आज रात को स्नोफॉल  होता है तो अगले दो दिनों तक शनिवार व रविवार होने से इस ऑफ सीजन में मसूरी पर्यटन को अच्छा रिस्पांस मिलेगा, जो पर्यटन व्यवसाय के लिए संजीवनी साबित हो सकता है.

वहीं पर्वतीय क्षेत्रों के ऊंचाई वाले इलाकों में भारी बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. रुद्रप्रयाग के जखोली ब्लॉक मुख्यालय में आयोजित हो रहे कृषि एवं औद्योगिक विकास मेले का पंडाल बर्फबारी के कारण टूट गया. सीमांत जिले उत्तरकाशी में बर्फबारी के कारण 35 से अधिक गांव अलग थलग पड़ गए हैं. गंगा व यमुना घाटी के 55 गांवों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई है. गंगोत्री व यमुनोत्री हाईवे के अलावा 10 संपर्क मार्ग बंद हो गए हैं. नई टिहरी जिला मुख्यालय सहित जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फ की सफेद चादर बिछ गई.  इसके साथ ही पौड़ी में गुरुवार शाम से हो रही बारिश के चलते पौड़ी शहर के आस-पास ऊंचाई वाले स्थानों पर जमकर बर्फबारी हुई है. जिला मुख्यालय के समीपवर्ती क्षेत्र बुआखाल, खिर्सू, थलीसैंण, अदवानी सहित कई स्थानों पर बर्फ की सफेद चादर बिछ गई. श्रीनगर, कीर्तिनगर, श्रीकोट सहित अन्य क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोग बर्फबारी का आनंद लेने पौड़ी पहुंचे. वहीं कंडोलिया, रांसी, क्यूंकालेश्वर सहित कई स्थानों पर भी हल्की बर्फबारी हुई.

Leave a Reply