Uncategorized

बडकोट में रजाई गद्दों की दुकान में लगी भीषण आग, आधा दर्जन दुकाने स्वाहा

बड़कोट में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बड़कोट के समीप एक गली में उस वक्त हड़कंप मया गया, जब रजाई-गद्दों की दुकान में लगी भीषण आग आधा दर्जन दुकानों में फ़ैल गई और दुकाने धूं-धूं कर जलने लगीं। आग की भंयकर लपटे देख लोग इधर-उधर भागने लगे और आग बुझाने के प्रयास करने लगे। फायर सर्विस के जवान और स्थानीय लोगों ने काफी मशक्कत से डेढ़ घंटे के बाद किसी तरह आग पर काबू पाया। आग लगने का कारण रसोई गैस सिलिंडर फटना बताया जा रहा है। 

उत्तरकाशी: बड़कोट में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बड़कोट के समीप एक गली में उस वक्त हड़कंप मया गया, जब रजाई-गद्दों की दुकान में लगी भीषण आग आधा दर्जन दुकानों में फ़ैल गई और दुकाने धूं-धूं कर जलने लगीं। आग की भंयकर लपटे देख लोग इधर-उधर भागने लगे और आग बुझाने के प्रयास करने लगे। फायर सर्विस के जवान और स्थानीय लोगों ने काफी मशक्कत से डेढ़ घंटे के बाद किसी तरह आग पर काबू पाया। आग लगने का कारण रसोई गैस सिलिंडर फटना बताया जा रहा है।

सोमवार को बड़कोट मुख्य चौराहे के अस्पताल की ओर एक गली जाती है, गली में लकड़ी के एक खोखे में शरीफ अहमद की रजाई-गद्दों की दुकान थी, जिसमें दोपहर करीब 12.15 बजे अचानक आग लग गई। लोगों ने जैसे ही रजाई-गद्दों को बाहर निकालना शुरू किया। आग भी उतनी तेजी से आसपास की दुकानों में भी फैल गई, जिससे करीब 10 दुकानें उसकी चपेट में आ गईं।  करीब एक घंटे तक मुख्य बाजार का ट्रैफिक पूरी तरह बन्द रहा। लोगों में अफरा तफरी का माहौल बना रहा।आग लगने से रजाई-गद्दों के अलावा, मेडिकल, रेडीमेड स्टोर, प्रोविजन स्टोर, पान की दुकान और एक खाने का ढाबा भी जलकर पूरी तरह खाक हो गया। इससे दुकानदारों का लाखों का नुकसान हुआ। आग की सूचना पर पुलिस ने पहले फायर डिस्टिंगविशर से आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन आग बढऩे के बाद फायर सर्विस को बुलाया गया। फायर सर्विस के आने पर कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। आग आसपास और दुकानों में न फैल जाए इसके लिए स्थानीय दुकानदारों ने अपनी-अपनी दुकानें खाली कर दी।

आग से प्रभावित दुकानदारों में जयेंद्र सिंह रावत, जयदेव सिंह, शरीफ अहमद, अरविंद कुमार, गौतम पंवार, संजय, मदन, गम्भीर आदि शामिल है।

Leave a Reply

Close