देशराज्य

एक ऐसा गाँव भी जहाँ सिर्फ एक मतदाता के लिए तैयार होता है पोलिंग स्टेशन, जानें-

चुनाव आयोग ऐसे दुर्गम स्थानों पर भी करता है वोटिंग की व्यवस्था

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने पूरी तरह से तैयार है, आयोग का पूरा प्रयास है कि कोई भी मतदाता वोट देने से वंचित न रह सके. ऐसे में चुनाव आयोग ऐसे दुर्गम स्थानों पर भी वोटिंग की व्यवस्था कर रहा है, जहां पहुंचना काफी मुश्किल है. ऐसा ही हाल अरुणाचल प्रदेश में एक सीट का है, जहां चुनाव आयोग के अधिकारी एक पोलिंग सेंटर पर सिर्फ एक मतदाता के लिए के लिए पूरा पोलिंग स्टेशन तैयार करते हैं और बीहड़ और दुर्गम रास्तों पर पूरा एक दिन पैदल चलते है. जानते हैं कैसा है उस सीट का हाल और वहां कैसे वोटिंग करवाई जाती है.

यह भी पढ़ें: चिनूक हेलीकॉप्टर से और ताकतवर हुई भारतीय वायुसेना, बेड़े में हुआ शामिल

दरअसल यह पोलिंग स्टेशन अरुणाचल प्रदेश के अनजॉ जिले में है, जो भारत-चीन बॉर्डर के पास है. खास बात यह है कि यह इतने दुर्गम स्थान पर है कि यहां पहुंचने के लिए चुनाव आयोग की टीम को करीब एक दिन तक पैदल चलकर यहां पहुंचना पड़ता है. अनजॉ जिले के मालोगम गांव में एक महिला रहती हैं, जिनका नाम है सोकेला तयांग. सोकेला ही वो महिला हैं, जिनके लिए आयोग की पूरी टीम वहां पोलिंग स्टेशन तैयार कर रही है. यह महिला अपने परिवार के साथ रह रही हैं. ऐसा नहीं है कि इस जगह एक ही परिवार रहता है, यहां कई परिवार हैं. हालांकि उनका पोलिंग स्टेशन दूसरा है. इससे पहले यहां इस पोलिंग स्टेशन पर दो मतदाता थे, जिसमें उनके उनके पति का नाम शामिल था. अब उनके पति जेनेलम तयांग का नाम दूसरे स्टेशन में आता है. वहीं एक वोटर के लिए पूरे दिन पोलिंग स्टेशन पर लोग रहते हैं और मतदाता का इंतजार भी करते हैं.

Tags

Leave a Reply

Close