गड्डीखानावासियों को मिलेगी बड़ी राहत, अब मसूरी शहर का सारा कूड़ा भेजा जायेगा शीशमबाड़ा

मसूरी। नगर पालिका परिषद द्वारा गड्डी खाना निवासियों के हित को देखते हुए बड़ा निर्णय लिया गया है। वर्षों से अभी तक पूरे शहर का कूड़ा गड्डीखाना में डंप किया जाता है। लेकिन नई बोर्ड ने 3 माह में ही गड्डीखाना वासियों को राहत देते हुए 15 दिनों बाद पूरा कूड़ा शीशमबाड़ा देहरादून भेजने का फैसला लिया है। इसके साथ ही शहरवासियों को बंदरों के आतंक से निजात देने के लिए भी स्वीकृति प्रदान कर दी है।

शुक्रवार को नगर पालिका सभागार में नगरपालिका की मासिक बैठक में करीब दो दर्जन प्रस्ताव पास किए गये, जबकि दो, तीन प्रस्ताव विवाद होने के कारण स्थगित किए गये। बोर्ड बैठक में स्टेशनरी को लेकर एक निविदा पर सभासदों में तीखी बहस भी हुई।

सभासद जसबीर कौर व आरती अग्रवाल  का कहना था कि स्टेशनरी को लेकर जितनी निविदा आयी है उससे कम में अन्य फर्म कार्य करने को तैयार है। वहीं  दूसरे पक्ष का कहना था कि जब समाचार पत्रों में विज्ञप्ति निकाली गई और उसमें तीन निविदाएं आयी जिसमें सबसे कम को बोर्ड में लाया गया। प्रताप पंवार व गीता कुमाई, पंकज खत्री, दर्शन रावत का कहना था कि अब इस तरह का विरोध ठीक नही है, ऐसे में पालिका की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने के साथ ही ठीक सन्देश नही जाएगा और भविष्य में फिर अन्य निविदाओं में भी यही प्रक्रिया चलनी शुरू हो जायेगी, जिससे विवाद की स्थिति उत्त्पन्न होगी। दोनो पक्षों की बहस के बीच पालिकध्यक्ष अनुज गुप्ता ने इस निविदा को यह कह कर निरस्त कर पुनः निविदा आमंत्रित करने को कहा, कि यदि पालिका को इससे सीधे 4 लाख का नुकसान हो रहा है, तो इस निविदा को निरस्त करते हुए दोबारा निविदा आमंत्रित किया जाना उचित रहेगा, क्योंकि वे किसी प्रकार की वित्तीय अनियमित्ता का जोखिम नही लेना चाहते।

बैठक में मालरोड के सौदर्यीकरण, दोनों बैरियरों के पुनः निर्माण करने सहित कई प्रस्ताव पास किए गये। बोर्ड बैठक मेें पालिका में कार्यरत संविदा कर्मियों एवं र्पावरण मित्रों को आगामी समय के लिए कार्य में रखने व सीजन हेतु करीब बीस पीआरडी जवानों को रखने का प्रस्ताव पास किया गया। वहीं बैठक में करीब 55 निर्माण कार्यों की निविदाओं को स्टीमेट रेट पर करने की संस्तुति दी गई। बैठक में पालिका के विभिन्न क्रिया क्लापों को विशेष कर सफाई आदि के लिए तीन वाहनों को क्रय करने के प्रस्ताव को स्वीकृत किया गया। इसके साथ ही मैसानिक लाॅज बस स्टैण्ड में पार्किग निर्माण की निविदा स्वीकृत की गई।

इस मौके पर कार्यवाहक अधिशासी अधिकारी/नगर अभियंता आर एस बिष्ट, स्वाथ्य अधिकारी डा. आरके सिंह सहित पालिका के अधिकारी व सभासद मौजूद रहे।

 

पिछली बोर्ड मेें कूडा निस्तारण का  कार्य नहीं हो पाया  था , लेकिन  उन्होंने  शहर की सफाई को  प्राथमिकता से लेते हुए आगामी 15 दिनों के अंदर पूरे कूड़े को शीशमबाड़ा  भेजने  का निर्णय लिया है , जिससे मसूरी वासियों को राहत मिलेगी। साथ ही  वर्षों  से गड्डीखाना  कूड़ा डम्पिंग  के कारण  जो  प्राकृतिक जल स्रोत सुख  रहे हैं  या दूषित हो रहे हैं , उन्हें बचाया  जा सकेगा ।                                                                                               अनुज  गुप्ता  ( पालिकाध्यक्ष )