अब नही हो सकेगी फर्जी वोटिंग, वोटर आईडी को आधार से लिंक करने के अभियान की हुई शुरुआत

Dehradun: संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रताप सिंह शाह ने शुक्रवार को सचिवालय के वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली सभागार में आयोजित कार्यक्रम में वोटर आईडी को आधार से लिंक करने के अभियान की शुरूआत की। अभियान की शुरूआत वोटर हेल्प लाइन एप्प के माध्यम से सचिवालय कार्मिकों के वोटर आईडी को आधार से जोड़कर किया गया।

इस मौके पर संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रताप सिंह शाह ने कहा कि वोटर आईडी और आधार कार्ड को लिंक करने से डुप्लीकेसी को रोकने में मदद मिलेगी और मत का दुरूपयोग नहीं हो सकेगा। उन्होंने कहा कि यह प्रक्रिया स्वैच्छिक है। जो भी मतदाता आधार नंबर उपलब्ध कराते हैं, उनके आधार नंबर को पूरी तरह से गोपनीय रखा जाएगा। आफ लाइन आधार नंबर दर्ज कराने हेतु फॉर्म 6 बी को भरकर बीएलओ को उपलब्ध कराना होगा।

सहायक मुख्य निर्वाचन अधिकारी मस्तु दास ने कार्यक्रम में डेमो वीडियो द्वारा वोटर हेल्प लाइन एप्प के माध्यम से वोटर आईडी और आधार को लिंक करने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वोटर आईडी और आधार को वोटर हेल्प लाइन एप्प के माध्यम से सरल प्रक्रिया से लिंक किया जा सकता है। इस अवसर पर सचिवालय में कार्यरत अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।