सडक मरम्मत की मांग’को लेकर पालिका के खिलाफ दिया धरना, तो पालिकाध्यक्ष ने दी ये प्रतिक्रिया-पढें

राजनीति से प्रेरित होकर न करें धरना प्रदर्शन, धरना ही देना है तो गलोगी पावर के भूस्खलन के ट्रीटमेंट के लिए दें धरना: पालिकाध्यक्ष

नगर पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता ने धरने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि झड़ीपानी-कोल्हूखेत ट्रैकिंग रूट है और यहां पर वाहनों की आवाजाही नहीं की जा सकती। इसके बावजूद स्थानीय लोगों द्वारा इस मार्ग इस्तेमाल किया जाता है। उन्होंने कहा कि धरना प्रदर्शन करने वालों को धरना ही देना है तो गलोगी पावर के भूस्खलन के ट्रीटमेंट के लिए करना चाहिए। जहां पर पिछले तीन चार वर्षों से लगातार मलवा और पत्थर पहाड़ी से गिर रहा है और दुर्घटना का भय बना हुआ है। उन्होंने कहा कि धरना करने का क्या मकसद है यह मसूरी वाले जानते है, कुछ लोग केवल राजनीति से प्रेरित होकर इस प्रकार का धरना प्रदर्शन कर रहे हैं जिसे स्वीकार नहीं किया जाएगा। 

Mussoorie: खस्ताहाल झड़ीपानी कोल्हूखेत मार्ग के निर्माण की मांग को लेकर राज्य आन्दोलनकारी प्रदीप भण्डारी द्वारा पूर्व घोषित कार्यक्रमानुसार धरना दिया गया। इस मौके पर उन्होंने नगर पालिका प्रशासन के खिलाफ आक्रोश व्यक्त किया व कहा कि यदि एक माह के भीतर क्षतिग्रस्त मार्ग का निर्माण नही हुआ तो व्यापक आन्दोलन किया जाएगा।

सोमवार को क्षतिग्रस्त झडीपानी कोल्हूखेत मार्ग के निर्माण को लेकर राज्य आन्दोलनकारी प्रदीप भंडारी ने नगर पालिका के खिलाफ धरना दिया। इस दौरान नगर पालिका के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी। इस मौके पर प्रदीप भण्डारी ने कहा कि झड़ीपानी-कोलुखेत मार्ग मसूरी का एक मात्र ऐसा मार्ग है जहाॅ से मसूरी के 90 प्रतिशत स्थानीय नागरिक रोज आवागमन करते हैं। यह मार्ग पिछले 4 साल से बेहद खराब है। भंडारी ने कहा कि इस क्षतिग्रस्त मार्ग पर रोज लोग गिरते हैं चोटिल होते हैं, कई लोग अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं। वहीं यहाँ से स्थानीय निवासियों को देर सबेर भी आना जाना पड़ता है। उन्होंने बताया कि लोगों द्वारा स्थानीय सभासद, नगर पालिका अध्यक्ष और अधिशासी अधिकारी को दर्जनों बार इस मार्ग की मरम्मत के लिए कहा गया है मगर पालिका द्वारा 4 साल में भी मात्र 200 मीटर का यह मार्ग नहीं बनाया जा सका। उन्होंने कहा कि यह बहुत अफसोस जनक है कि यह वार्ड मसूरी नगर पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता का गृह वार्ड भी है। अब जब अध्यक्ष के गृह वार्ड का ही यह हाल तो मसूरी के बाकी मार्गों का क्या हाल होगा। उन्होंने कहा कि यदि एक माह में यह मार्ग नही बनाया गया तो व्यापक आन्दोलन किया जायेगा।

धरने में मसूरी ट्रेडर्स एसोएिशन अध्यक्ष रजत अग्रवाल, समाजसेवी मनीष गौनियाल, मेघ सिंह कण्डारी, संदीप अग्रवाल, बिक्रम नेगी, जा़कीर हुसैन, सलमान, आशू गुप्ता, शिफनकोर्ट समिति अध्यक्ष संजय टम्टा, राम सिंह, हिमांशु, फैज़ान, सलमान, फ़राज़ समेत अनेक लोग शामिल रहे।