मसूरी: किंग क्रेग मल्टी लेवल कार पार्किंग में अव्यवस्थाओं का बोलबाला, नियमो के विरुद्द हो रहा संचालन

Mussoorie: किंक्रेग स्थित मल्टी लेवल कार पार्किंग में लगातार अव्यवस्थाओं का बोलबाला बना हुआ है। जहां एक ओर कार पार्किंग में रेट लिस्ट नहीं लगाई गई है वहीं दूसरी ओर मानको के विपरीत बड़े वाहनों को पार्क किया जा रहा है जिससे लगातार दुर्घटना का भय बना हुआ है।

बताते चलें पूर्व में निर्माण के दौरान पार्किंग एक हिस्सा भरभरा कर गिर गया था। इस कारण इस पार्किंग में भारी वाहनों को पार्क नही किया जा सकता। यह पार्किंग भारी वाहनों को नही झेल सकती है। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों का भी कहना है कि उनके द्वारा इस पार्किंग को पर्यटन विभाग के सुपुर्द कर दिया गया है और बताया गया है कि यहां पर छोटे वाहनों को ही पार्क किया जाए। इसके बावजूद पार्किंग के ठेकेदार द्वारा मनमर्जी से शुल्क वसूला जा रहा है और बड़े वाहनों को भी पार्क किया जा रहा है। जिससे लगातार दुर्घटना होने का अंदेशा बना हुआ है।

इस संबंध लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता डीसी नौटियाल ने गत 23 जून को एक पत्र जिला पर्यटन अधिकारी को भेजा गया है जिसमें कहा गया है कि पर्यटन विभाग ने जिस ठेकेदार को पार्किग दी है वह नियमों का पालन नहीं कर रहा है। उन्होंने पत्र में साफ लिखा है कि पार्किग में बड़े वाहन बसे या टेंपो ट्रेवल्स खड़े नहीं किए जाये क्योकि पार्किग का डिजाइन बड़े वाहनों के लिए नहीं बनाया गया है। वहीं बड़े वाहनों को रोकने के लिए लोनिवि ने ओवर हैड बैरियर लगाया था, जिसे ठेकेदार ने कटवा दिया ताकि बसें खड़ी की जा सकें। उन्होंने पत्र में साफ लिखा कि भविष्य में अगर कोई दुर्घटना होती है तो उसका जिम्मेदार लोनिवि नहीं होगा।

उन्होंने पत्र में कहा कि शीघ्र ओवर हैंड बैरियर को लगवाया जाय व बड़े वाहनों को पार्किग न करने दिया जाय। लेकिन ठेकेदार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। पार्किंग संचालक से पूछा गया कि यदि कोई दुर्घटना हो जाए तो उसकी जिम्मेदारी किसकी होगी, तो उसने इसका ठीकरा सीधे सीधे लोक निर्माण विभाग पर इसका ठीकरा फोड़ दिया। वहीं पार्किग में जो लोग वाहन खड़े कर रहे है उनके गतव्य तक जाने की भी कोई व्यवस्था नहीं की गई है। वाहन खडे करने के बाद दो किमी तक पर्यटकों को पैदल ही मसूरी आना पड़़ रहा है, जबकि पार्किग से शटल सर्विस चलाने की बात कही गई थी।