राज्य कर विभाग ने व्यापारियों की जीएसटी, सर्विस चार्ज से संबंधित शंकाओं का किया समाधान

Mussoorie: मसूरी होटल एसोसिएशन एवं मसूरी ट्रेडर्स एंड वेलफेयर एसोसिएशन के संयुक्त तत्वाधान में जीएसटी, पेनाल्टी, लेट फीस एवं सर्विस चार्ज के संबंध में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें राज्य कर जीएसटी विभाग ने व्यापारियों की शंकाओं का समाधान किया। इस मौके पर संयुक्त आयुक्त राज्य कर राकेश वर्मा ने कहा कि रेस्टोंरेंट में सर्विस चार्ज लेना बाध्यता नहीं है। और जो ले रहे हैं उन्हें जीएसटी देना होगा तभी वह सर्विस चार्ज लगा सकते हैं।

लाइब्रेरी स्थित एक होटल के सभागार में आयोजित बैठक में संयुक्त आयुक्त राज्य कर राकेश वर्मा ने कहा कि कुछ समय से सर्विस चार्ज को लेकर भ्रांति बनी हुई है व शिकायत का आधार बन रहा है। इस पर भारत सरकार की वित्त मंत्री ने निर्देश दिया कि इस संबंध में व्यापारियों के साथ बैठक कर इस पर वार्ता कर समझाया जाय। उन्होंने कहा कि सर्विस चार्ज की किसी भी ग्राहक को देने की बाध्यता नही है वह उसकी मर्जी है कि वह दे या न दे। अगर उसकी सहमति है तो ले सकते हैं अगर नहीं देता तो उसे बाध्य नहीं कर सकते। इसके प्रति जागरूक किया जाना आवश्यक है ताकि भविष्य में विवाद पैदा न हो और कोई ग्राहक उपभोक्ता संरक्षण में वाद न दायर कर दे। उन्होंने कहा कि अगर ग्राहक की सहमति से सर्विस चार्ज लिया जाता है तो वह बिल में आयेगा व उस पर जीएसटी देना होगा। उन्होंने यह भी बताया कि पहले टिप्स के रूप में ग्राहक वेटर को देता था जिस पर उन्होंने आपसी सहमति बना कर इसे सर्विस चार्ज के रूप में लेना शुरू किया था। लेकिन इसके लिए किसी को बाध्य नहीं किया जा सकता। इस मौके पर उन्होंने जीएसटी व इससे संबंधित समस्याओं के बारे में व्यापारियों के सवालों का उत्तर देकर संतुष्ट किया।

बैठक में व्यापार संघ अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने कहा कि जीएसटी के प्रति सभी व्यापारियों को सजग रहना चाहिए तथा देना चाहिए। क्यो कि इससे ही शहर देश का विकास किया जाता है। उन्हांेने कहा कि राज्य कर अधिकारियों ने व्यापारियों की समस्याओं का समाधान किया इसके लिए उनका धन्यवाद है। तथा भविष्य में सभी व्यापारी विभाग का पूरा सहयोग करते रहेंगे। कार्यक्रम का संचालन होटल एसोशिएशन के अध्यक्ष संजय अग्रवाल ने किया।

इस मौके पर राज्य कर उपायुक्त एवं कंट्रोलिंग अधिकारी संजीव त्रिपाठी ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में असिस्टेंस कमीशनर केके पांडे, होटल एसोएिशन के महासचिव अजय भार्गव, अधिवक्ता मोहन पेटवाल, पूर्व अध्यक्ष होटल एसोसिएशन आरएन माथुर, धनप्रकाश अग्रवाल, व्यापार संघ के महासचिव जगजीत कुकरेजा, नागेद्र उनियाल, दीपक गुप्ता, दीपक अग्रवाल, आशीष गोयल, अनंत प्रकाश, राजन विरमानी, स्वीटी, सुनीता कुंडले, पालिका सभासद अरविंद सेमवाल, होम स्टे एसोसिएशन के अध्यक्ष देवी गोदियाल सहित बड़ी संख्या में होटलियर्स, होम स्टे, एवं व्यापारी मौजूद रहे।