मसूरी: प्रशासन ने की शटल सेवा शुरू, पार्किंग व जाम की समस्या से मिलेगी निजात

Mussoorie: पर्यटन नगरी मसूरी में सीजन के दौरान मीलों लंबा जाम लग जाता है जिससे कि पर्यटकों के साथ ही आम लोगों को भी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। जिसको देखते हुए प्रशासन ने किंक्रेग स्थित कार पार्किंग से शटल सेवा शुरू की है।

मसूरी में लगातार सीजन के दौरान लगने वाले जाम से राहत दिलाने के लिए पुलिस ने किंक्रेग में बनी मल्टी लेबल पार्किंग में मसूरी घूमने आने वाली बसो व टेपो ट्रेवल्स को निःशुल्क पार्किग की सुविधा उपलब्ध करायी है। वहां से मसूरी के लिए शटल सेवा शुरू की है। जिससे बड़े वाहनों को वहीं पर पार्क कर टैक्सी या होटल की गाड़ी से ही पर्यटकों को मसूरी ले जाया जाएगा, ताकि शहर में लगने वाले जाम से राहत मिल सके हालांकि इस सेवा से पर्यटकों को परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है। लेकिन फिलहाल पुलिस व्यवस्था बनाने में लगी हुई है और यहां से पर्यटको वाहनों से मसूरी पहुंचाया जा रहा है। इस सेवा के अंतर्गत जहां टैक्सी चालकों का भी आमदनी का जरिया बना है, वही दूसरी ओर काफी हद तक पार्किंग की समस्या से भी निजात मिलने की उम्मीद है।

गुजरात से आए पर्यटक धर्मेंद्र भाई पटेल ने बताया कि वह अपने परिवार के साथ मसूरी घूमने आए हैं और प्रशासन द्वारा जो व्यवस्था की गई है उससे वह काफी खुश है। उन्होंने कहा कि इस तरह की व्यवस्था से शहर वासियों के साथ ही पर्यटकों को भी जाम से नहीं जूझना पड़ेगा।

वही गुजरात से ही आए पर्यटक सुषमा पटेल ने बताया कि वह यहां के मौसम से अभिभूत हैं और उन्हें कतई एहसास नहीं हो रहा है कि वह 1 घंटे से सड़क पर ही खड़े हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासन जो भी व्यवस्था करेगा और पर्यटकों के हित में ही करेगा।

वहीं शटल सर्विस के बारे में मसूरी भ्रमण करने आए पर्यटक नवीन भाई पटेल ने बताया कि वह लगभग एक डेढ़ घंटे से यहां पर खड़े हैं। उन्हें बताया गया है कि जाम की वजह से उनके वाहनों को यही पार्क किया जाएगा। साथ ही जिस होटल में उन्हें जाना है, उनकी गाड़ी से वे होटल तक जाएंगे या फिर यहां से टैक्सी द्वारा उन्हें होटल तक पहुंचाया जाएगा। लेकिन अभी तक कोई गाड़ी नहीं आयी। उन्होंने नारजगी व्यक्त करते हुए कहा कि जो पर्यटक घूमने आया है वह सारा दिन यहां पार्किंग में गाड़ी का इंतजार करता रहेगा, तो घूमेगा कब। वहीं कहा कि उनका सरोइसा कब खाना बनायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि जब सरकारी रोडवेज की बस जा रही है, तो पर्यटकों की बस क्यों रोकी जा रही है जबकि यह बस भी टैक्स देती है। वहीं नवीन भाई पटेल ने बताया कि जहां मैदानी क्षेत्र में भीषण गर्मी पड़ने लगी है वहीं पर्यटन नगरी मसूरी में मौसम खुशगवार है और यहां पर आकर ठंड का एहसास हो रहा है।