लोक निर्माण विभाग द्वारा निजी संपत्ति के लिए एक करोड़ दस लाख रुपए की लागत से बनाई जा रही सडक

Mussoorie: कोठाल गेट स्थित है एक पांच सितारा होटल के लिए लोक निर्माण विभाग द्वारा एक करोड़ दस लाख रुपए की लागत से मार्ग बनाये जाने की तैयारी की जा रही है जिसके लिए निर्माण सामग्री एकत्र करनी शुरू कर दी गई है। जिससे ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ गया है।

पत्रकार वार्ता में ग्रामीणों का कहना है कि लोक निर्माण विभाग द्वारा शहर की खस्ताहाल पड़ी सड़कों का जीर्णाेद्धार तो नहीं किया जाता व बजट न होने की बात की जाती है, लेकिन एक पांच सितारा होटल के लिए लोक निर्माण विभाग द्वारा मार्ग का निर्माण किये जाने की तैयारी कर ली गई है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि इस मार्ग में ग्रामीणों की पैतृक भूमि के साथ ही वन विभाग की भूमि भी शामिल है जिस पर विभाग और होटल प्रबंधन द्वारा मार्ग का निर्माण किया जा रहा है और किसी से भी इसकी अनापत्ति नहीं ली गई।

पत्रकारों से बातचीत में ग्रामीणों ने बताया कि सूचना के अधिकार के तहत उनके द्वारा मांगी गई सूचना के अनुसार न तो यहां पर वन विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र लिया गया ना ही नगर निगम से अनापत्ति प्रमाण पत्र लिया गया है, उसके बावजूद भी यहां पर ऊंची रसूख के चलते मार्ग का निर्माण किया जा रहा है। जबकि ग्रामीणों द्वारा इस संबंध में न्यायालय में वाद दायर किया गया है। जिस पर अभी सुनवाई चल रही है।

उन्होंने कहा कि कुछ भू माफियाओं द्वारा पांच सितारा होटल के लिए जमीन विक्रय की गई थी जिसमें ग्रामीणों से किसी भी प्रकार की सहमति नहीं हुई थी ना ही किसी भी प्रकार की लिखित कार्रवाई हुई। पत्रकारों से वार्ता करते हुए ग्रामीण राजेंद्र ने बताया कि उनके द्वारा जिलाधिकारी तथा मुख्यमंत्री से भी इस संबंध में शिकायत की गई है और यदि यहां पर मार्ग का निर्माण किया गया तो उन्हें आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा व उसकी सारी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी। उनका यह भी कहना है कि जब यहां कोई बस्ती नहीं है तो रोड किसके लिए बनाई जा रही है। उन्होंने यह भी बताया कि जिलाधिकारी ने राजस्व विभाग व वन विभाग को उक्त क्षेत्र का स्थल संयुक्त निरीक्षण कर रिपोर्ट देने को कहा है।

वहीं लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता डीसी नौटियाल का कहना है कि रोड बनाने के आदेश उच्च स्तर से आये हैं। इस मौके पर सुल्तान सिंह, चेतन सिंह, दीपक सिंह, प्रवीण मखडे़ती सहित ग्रामीण मौजूद रहे।