उत्तराखंडमसूरीराज्य

मसूरी: नानपारा क्षेत्र में बंदरों का आतंक, डॉक्टर के चार वर्षीय पोते को काटा

Mussoorie: लंढौर ओक्स रोड नानपारा क्षेत्र में बंदरों व कुत्तों के आंतक से स्थानीय लोग खासे परेशान हैं। यहाँ बन्दरो का इतना भय है कि लोगों का पैदल आना जाना मुश्किल हो जाता है। जानकारी मिली है कि स्थानीय निवासी डा. एनपी उनियाल के चार वर्षीय पोते को बंदरों ने काट दिया है।

मसूरी के सभी क्षेत्रों में बंदरों, लंगूरों व कुत्तों का आतंक है और इस संबंध में स्थानीय लोगों द्वारा कई बार पालिका प्रशासन को शिकायते की जाती हैं, लेकिन सम्बंधित अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है और लगातार बंदरों कुत्तों व लंगूरों द्वारा राहगीरों को काटने के मामले प्रकाश में आ रहे हैं।

इस सम्बन्ध में व्यापार संघ अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने बताया कि लंढौर नानपारा निवासी डा. एनपी उनियाल के चार वर्षीय पोते को बंदरों ने काट लिया है, लेकिन लगातार शिकायतों के बाद भी पालिका प्रशासन मौन है। उन्होंने कहा कि आईडीएच में कुत्तों का अस्पताल बनाया गया था, जहां आवारा कुत्तों को रखा जाना था व उनका बधियाकरण होना था, लेकिन वहां न कोई डाक्टर है न कोई आवारा कुत्ता है। विगत वर्ष पालिका के माध्यम से बंदर पकड़ने वाली टीम बुलाई गई थी, लेकिन कुछ समय तक बंदरों को पकड़ने के बाद टीम वापस चली गई, उस समय लोगों को कुछ राहत जरूर मिली, लेकिन एक बार फिर से बंदरों का आतंक हो गया है। कहा कि शीतकाल में बंदरों, कुत्तों व लंगूरों का आतंक और अधिक हो जाता है, क्योंकि स्कूल व होटल आदि बंद हो जाते हैं तथा ये जानवर शहर की ओर आने लगते हैं। उन्होंने पालिका प्रशासन से मांग की है कि आवारा कुत्तों, बंदरों व लंगूरों के आतंक से मसूरी को मुक्ति दिलायी जाय।

Tags
Close