उत्तराखंडदेहरादूनमसूरीराज्य

गणपति बप्पा मोरिया,अगले बरस फिर आना आदि जयकारों के साथ श्रद्धालुओं ने भगवान गणेश को किया विदा

Mussoorie: गणेश उत्सव सेवा समिति के तत्वाधान में आयोजित भगवान गणेश विसर्जन कार्यक्रम पूजा अर्चना के बाद संपन्न हो गया। इस मौके पर भंडारे का आयोजन किया गया, तत्पश्चात गणेश विसर्जन शोभा यात्रा निकाली गई, इसके बाद श्रद्धालुओं ने भरे मन से यमुना पुल पर गणेश विसर्जन किया गया।

गणेश उत्सव सेवा समिति के तत्वाधान में श्री सनातन धर्म मंदिर लंढौर में रिद्धि सिद्धि के दाता भगवान गणेश की प्रतिमा का विसर्जन किया गया। इससे पूर्व मंदिर में पुजारी उमेश नौटियाल ने पूजा अर्चना की व हवन के बाद भंडारा किया गया। इसके बाद धूमधाम से भगवान गणेश को गणपति बप्पा मोरिया व अगले बरस फिर आना आदि जयकारों के साथ भावुक होकर विदा किया गया।

इस मौके पर ढोल ढमाके व होली के रंगों के साथ भगवान गणेश को विसर्जित करने के लिए शोभायात्रा निकाली गई। जो मंदिर से लंढौर बाजार, घंटाघर जैन धर्मशाला तक गई। रास्ते भर लोगों ने भगवान गणेश को विदा किया। वही महिलाओं व पुरूषों ने रास्ते भर नृत्य कर गणपति को हंसी खुशी विदा किया। उसके बाद वाहन के माध्यम से भगवान गणेश की प्रतिमा को यमुना पुल ले गये व वहां पर पारंपरिक विधि विधान से यमुना नदी में विसर्जित किया।

इस मौके पर गणेश उत्सव सेवा समिति के सानु वर्मा व सुरेश गोयल ने कहा कि भगवान गणेश से दुआ मांगी गई कि पूरे देश, शहर व प्रदेश को कोरोना से मुक्ति मिले, वहीं सभी परिवार सुखी व समृद्ध रहे। उन्होंने कहा कि जिस उत्साह से दस सितंबर को भगवान गणेश को स्थापित किया गया, उसी उत्साह से श्रद्धालुओं ने विदा किया है तथा अगले वर्ष फिर आने की कामना के साथ यमुना में जाकर उन्हें विसर्जित किया गया। वहीं समिति के सदस्य अरूण वर्मा ने कहा कि गत तीन साल से यह उत्सव मनाया जा रहा है, ताकि सभी सुखी व समृद्ध रहें व रोगों से दूर रहे। इस कार्य में समिति के सभी सदस्यों ने सहयोग किया है।

गणेश विसर्जन यात्रा में सुभाष चंद्र, अनुज गोयल, रवि गोयल, अनुराग रस्तोगी, मिथिलेश रस्तोगी, नीरज अग्रवाल, राहुल मित्तल, तनमीत खालसा, निखिल अग्रवाल, हिमांशु कटियार, सहित बड़ी संख्या में महिला व पुरूष श्रद्धालु मौजूद रहे।

Tags
Close