उत्तराखंडटिहरी गढ़वालदेहरादूनराज्य

भाजपा के हुए प्रीतम पंवार, 2017 में बीजेपी की प्रचंड लहर के बावजूद निर्दलीय जीते थे प्रीतम

Dehradun: उत्तराखंड में 2022 विधानसभा चुनावो को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई है। इसके तहत सभी दल अपना कुनबा बढाने में जुट गये हैं। इसी क्रम में बीजेपी के मुख्य राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और उत्तराखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने धनोल्टी के निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार को भाजपा की सदस्यता ग्रहण कराई।


इस मौके पर प्रीतम सिंह पंवार ने कहा कि मैं खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं कि देश की सबसे बड़ी पार्टी में शामिल हुआ हूं। मैं धार्मिक प्रदेश से हूं, जहां चारधाम हैं, देवी देवताओं का वास है। पीएम मोदी का नाता भी देवभूमि से रहा है। जिस तरह से उनकी धार्मिक आस्था देवभूमि से जुड़ी हैं उससे निश्चित तौर पर प्रदेश का विकास होगा।

बताते चलें कि बता दें कि प्रीतम पंवार उत्तराखंड क्रांति दल (यूकेडी) से भी मंत्री रह चुके हैं। पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में निर्दलीय विधायकों का गठबंधन पीडीएफ अहम भूमिका में रहा था। इसी गठबंधन का हिस्सा रहे प्रीतम सिंह पंवार को सरकार ने पीडीएफ कोटे से मंत्री पद दिया था। यही नही वे 2017 में बीजेपी की प्रचंड लहर के बावजूद निर्दलीय जीते थे।

प्रीतम पंवार का राजनीतिक सफर–

  • 1984 में उत्तराखंड क्रांति दल में शामिल हुए।
  • 1988 में पहली बार चिन्यालीसौड़ उत्तरकाशी से क्षेत्र पंचायत सदस्य चुने गए।
  • 1994 में उत्तराखंड राज्य आंदोलन में सक्रिय भागीदारी की।
  • 1996 में जिला सहकारी बैंक उत्तरकाशी के निदेशक।
  • 1996 में दोबारा चिन्यालीसौड़ उत्तरकाशी से क्षेत्र पंचायत सदस्य चुने गए।
  • वर्ष 2000 से 2002 तक उत्तरकाशी जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष रहे।
  • 2002 में पहली बार यूकेडी से यमुनोत्री विधानसभा सीट से विधायक बने।
  • 2012 में दूसरी बार भी यूकेडी से ही यमुनोत्री सीट से विधायक बने। तत्कालीन कांग्रेस सरकार में पहली बार कैबिनेट मंत्री का दायित्व संभाला। पंवार को शहरी विकास, मत्स्य पालन, पशुपालन, कारगार जैसे बड़े विभागों का मंत्री बनाया गया।2017 में टिहरी
  • जिले की धनोल्टी विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में जीत हासिल कर तीसरी बार विधायक बने।

Tags
Close