उत्तराखंडमसूरीराज्य

जीएमवीएन कर्मचारियों ने मांगो को लेकर सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया

Mussoorie: गढवाल मंडल एवं कुमांउ मंडल विकास मंडल संयुक्त कर्मचारी महासंघ उत्तराखंड के कर्मचारियों ने विभिन्न मांगों को लेकर एक दिवसीय धरना दिया व एसडीएम के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर समस्या का समाधान करने की मांग की।

गढवाल टैरेस पर गढवाल मंडल विकास निगम, गैस सेवा, मसूरी दर्शन, व गढवाल टैरेस के कर्मचारियों ने सांकेतिक धरना एवं प्रदर्शन किया। इस मौके पर मांग की गई कि गढवाल एवं कुमांउ मंडल विकास निगम के 15 से 20 सालों से निरंतर कार्य कर रहे कर्मचारियों का विनियमिति करण किया जाय, कोरोना महामारी के दौरान कर्मचारियों के रूके वेतन व देयकों के साथ ही सेवा निवृत्त कर्मचारियों के देयों का भुगतान किया जाय व दोनों निगमों को पचास पचास करोड़ दिया जाय। दोनों निगमों का एकीकरण कर उत्तराखंड पर्यटन परिषद में समायोजित किया जाय। निगमों को रोजगार परक बनाने व आत्म निर्भर बनाने के लिए एलटू का कार्य, रेत खनन कार्य, पर्यटन के निर्माण संबंधी कार्य दिए जाये, दोनों निगमो के नियमित हुए कर्मचारियों को पुरानी सेवा का लाभ दिया जाय, विभागीय प्रमोशन कक्षवार करने के साथ ही चतुर्थ व तृतीय श्रेणी का विभागीय कोटा भरा जाय, कर्मचारियों को छठे वेतन मान के एरियर, चतुर्थ श्रंेणी कर्मचारियों को दो हजार ग्रेडपे एरियर के साथ दिया जाय, अटल आयुष्मान का लाभ नियमित व दैनिक भोगी कर्मचारियों को दिया जाय, निगम में कार्यरत संविदा, दैनिक कर्मचारियों का वेतन 25 हजार किया जाय, व उनका सामूहिक बीमा किया जाय, वेतन विंसंगति को दूर किया जाय, निगम के विश्राम गृह निजी क्षेत्र को न दिए जायं आदि मांगे हैं।

इस संबंध में संगठन के सचिव सोहन सिंह परमार ने बताया कि मुख्यतहः तीन चार मांगे है जिसमें जो कर्मचारी मस्टरोल पर कार्य कर रहे है। उन्हें समान कार्य का समान वेतन दिया जाय, कर्मचारियों का नियमिति करण किया जाय आदि है। उन्होंने कहा कि अभी केवल सांकेतिक धरना पूरे जिले में है आगे की रणनीति महासंघ तय करेगा। मौके पर संजय रावत ने बताया कि यह आंदोलन गढवाल मडल व कुमांउ मंडल संयुक्त रूप से कर रहा है जिसमें मुख्य मांग समान कार्य का समान वेतन, नियमितिकरण किया जाय, दैनिक वेतन भोगियो को समान कार्य का समान वेतन दिया जाय, कर्मचारियों का वेतन कम से कम 25 हजार किया जाय, जिन कर्मचारियों को कई महीनों से वेतन नहीं दिया गया उनका वेतन दिया जाय। धरना देने वालों में बेताल सिंह पंवार, धनवीर सिंह राणा, आशीष शर्मा, सुरेश, राकेशा, ऋषि राजभर, इंद्र सिह, राकेश, शहजाद, कृष्णा शाह, नत्थी सिंह आदि थे।

Tags
Close