देशस्वास्थ्य

भारत को कोरोना वैक्सीन के मोर्चे पर जल्द मिलेगी एक और अच्छी खबर

New Delhi: भारत को कोरोना वैक्सीन के मोर्चे पर जल्द ही एक और अच्छी खबर मिल सकती है। भारत बायोटेक (Bharat Biotech) देश में जल्द ही Nasal वैक्सीन का ट्रायल शुरू करने जा रहा है। नागपुर में इस वैक्सीन के पहले और दूसरे फेज का ट्रायल किया जाएगा।

भारत को आने वाले समय में कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर एक और अच्छी खबर मिल सकती है। भारत बायोटेक द्वारा भारत में जल्द ही Nasal vaccine ट्रायल प्रारंभ होगा। नागपुर में इस वैक्सीन के प्रथम और द्वितीय फेज का ट्रायल प्रारंभ किया जाएगा. Nasal वैक्सीन को नाक के माध्यम से शरीर में पहुंचाया जाता है, जबकि अभी तक के समय में भारत में जिन 2 प्रकार की वैक्सीन (कोवैक्सीन,कोविशील्ड ) को मंजूरी प्राप्त है इन वैक्सीन को इंजेक्शन द्वारा दिया जाता है।

Bharat Biotech के डॉ. कृष्णा इल्ला(Dr. Krishna Illa) के अनुसार, उनकी कंपनी ने वाशिंगटन यूनिवर्सिटी(University of Washington) के साथ हाथ मिलाया है। इस Nasal वैक्सीन में दो डोज कि नहीं सिर्फ एक ही डोज देने की आवश्यकता होती है। रिसर्चरों के मुताबिक यह काफी सरकार और अच्छा ऑप्शन है।

डॉ. चंद्रशेखर(Dr. Chandrasekhar) के अनुसार, आने वाले तो हफ्तों में Nasal Covaxin का ट्रायल चरण प्रारंभ कर दिया जाएगा। और इसके लिए हमारे पास आवश्यक सबूत है कि नाक के द्वारा शरीर में पहुंचाई जाने वाली वैक्सीन इंजेक्शन द्वारा पहुंचाई जाने वाली वैक्सीन से बेहतर है। भारत बायोटेक(Bharat Biotech) जल्द ही वैक्सीन से संबंधित ट्रायल को लेकर DCGI के सामने प्रपोजल्स रख सकता है।

मिली जानकारी के अनुसार, भुवनेश्वर-हैदराबाद-पुणे-नागपुर में भी कंपनी की इस वैक्सीन का ट्रायल किया जाएगा. जिन जगहों पर 18 वर्ष से 65 वर्ष तक के करीब 40 से 45 वॉलेंटियर्स को चयनित किया गया है। ग़ौरतलब है कि Bharat Biotech द्वारा वर्तमान समय में दो इंट्रा-नेसल वैक्सीन(Intra-nasal vaccine )पर कार्य किया जा रहा है। और दोनों ही अमेरिका की वैक्सीन है।

बता दें कि अभी जो भी वैक्सीन बाजार बाजार में आने के लिए तैयार है, उनको लोगों के हाथ पर इंजेक्शन द्वारा टीका लगाया जाता है। लेकिन Nasal vaccine को नाक के द्वारा दिया जाएगा। चूंकि नाक के द्वारा ही सबसे ज्यादा संक्रमण फैलने का ख़तरा पैदा होता है, ऐसी परिस्थितियों में आने वाली यह वैक्सीन के कारगर होने की संभावनाएं अत्याधिक है।

वाशिंगटन स्कूल ऑफ मेडिसन(Washington School of Madison) की रिसर्च के अनुसार, अगर वैक्सीन आपके द्वारा शरीर में पहुंचाई जाए तो शरीर का इम्युन रिस्पॉन्स(Immune response) काफी काफी असरदार और बेहतर तरीके से तैयार होता है। यह किसी तरह के इंफेक्शन को नाक में आने से रोकता है, जिससे कि वायरस शरीर में आगे ना फैल पाए।

Tags
Close