देश

इस तरह है नीतीश कैबिनेट, 9 नए चेहरों को पहली बार मिली मंत्रिमंडल में जगह

Ranchi: बिहार में नीतीश कुमार की अगुवाई वाली एनडीए सरकार का गठन हो गया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ 14 मंत्रियों ने सोमवार को शपथ ली, जिनमें से 9 चेहरों को पहली बार मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है. बीजेपी ने अपने कोटे के सात मंत्रियों में से 5 नए मंत्री शामिल किए हैं जबकि जेडीयू ने अपने दो नए चेहरों को जगह दी है. इसके अलावा HAM और वीआईपी कोटे के दोनों नेता पहली बार मंत्री बने हैं.

मेवालाल चौधरी 
जेडीयू कोटे से मंत्री बनने वाले मेवालाल चौधरी को पहली बार कैबिनेट में शामिल किया है. बिहार की तारापुर विधानसभा क्षेत्र से जेडीयू के टिकट पर दूसरी बार विधायक चुने गए हैं. मेवालाल चौधरी 2015 में पहली बार विधायक बने थे जबकि इससे पहले तक वो शिक्षक रहे हैं. वो कोइरी समुदाय से आते हैं.

शीला मंडल 
जेडीयू कोटे से मंत्री बनी शीला मंडल पहली बार विधायक चुनी गई हैं और सीधे कैबिनेट में जगह मिली है. फुलपरास सीट से विधायक बनीं है. जेडीयू ने अपने मौजूदा विधायक गुलजार देवी का टिकट काटकर शीला मंडल को टिकट दिया था, जिस पर खरी उतरी हैं. वो अतिपिछड़ा समुदाय की धानुक जाति से आती हैं.

तारकिशोर प्रसाद 
नीतीश कुमार की कैबिनेट में डिप्टी सीएम बनने वाले बीजेपी नेता तारकिशोर प्रसाद पहली बार मंत्री बने हैं जबकि लगातार चौथी बार कटिहार सीट से विधायक बने हैं. वो एबीवीपी से अपना राजनीतिक सफर शुरू किया था और सुशील मोदी के करीबी नेताओं में गिने जाते हैं. तारकिशोर वैश्य समाज से आते हैं, जिसे बिहार में पिछड़ा वर्ग का दर्जा प्राप्त है.

अमरेंद्र प्रताप सिंह
अमरेंद्र प्रताप सिंह को पहली बार कैबिनेट में जगह मिली है जबकि आरा विधानसभा सीट से चौथी बार विधायक चुने गए हैं. बीजेपी के दिग्गज और पुराने नेताओं में गिने जाते हैं. वो पहली बार साल 2000 में विधायक चुने गए थे. भोजपुर इलाके में अच्छी पकड़ मानी जाती है और वो राजपूत समाज से आते हैं.

रामप्रीत पासवान
बीजेपी कोटे से एकलौते दलित मंत्री बनने वाले रामप्रीत पासवान को पहली बार कैबिनेट में शामिल किया गया गया है. मधुबनी के राजनगर सीट से रामप्रीत पासवान लगातार दूसरी बार विधायक चुने गए हैं. वो दुसाध समुदाय से आते हैं, जो एलजेपी का कोर वोटबैंक माना जाता है.

जीवेश मिश्रा 
बीजेपी ने अपने तेजतर्रार नेता जीवेश मिश्रा को पहली बार मंत्रिमंडल में शामिल किया है. दरभंगा के जाले विधानसभा सीट से लगातार तीसरी बार जीत हासिल की है. इस बार उन्होंने कांग्रेस के मशकूर उस्मानी को मात दी है. बीजेपी ने इसके जरिए मिथिलांचल के ब्राह्मण समुदाय को सियासी संदेश देने की कोशिश की है.

रामसूरत राय
नीतीश कुमार की कैबिनेट में बीजेपी कोटे से यादव चेहरे के तौर पर रामसूरत राय को मंत्री बनाया गया है. मुजफ्फरपुर की औराई विधानसभा सीट से दूसरी बार विधायक बने हैं और पहली बार उन्हें कैबिनेट में जगह मिली है.

संतोष कुमार सुमन 
हिंदुस्तान आवाम मोर्चा कोटे से जीतनराम मांझी के बेटे संतोष मांझी ने मंत्री पद की शपथ ली है. वो विधान परिषद के सदस्य हैं और पहली बार उन्हें कैबिनेट में जगह मिली है. इस बार के विधानसभा चुनाव में HAM ने चार सीटों पर जीत दर्ज की है, जिसके तहत पार्टी को एक मंत्री पद मिला है. संतोष राजनीति शास्त्र से एमए और पीएचडी हैं.

मुकेश सहनी 

विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी को भी कैबिनेट में जगह दी गई है. मुकेश सहनी पहली बार मंत्री बने हैं. हालांकि, सिमरी बख्तियारपुर विधानसभा सीट वो चुनाव हार गए थे, लेकिन उन्हें विधान परिषद सदस्य बनाया जा सकता है. एनडीए के तहत मुकेश सहनी की पार्टी ने 11 सीटों पर चुनाव लड़ा था और चार सीटें जीती है. इसी के तहत एक मंत्री पद उनके खाते में आया है.

Tags
Close